उद्देश्य

भारतीय दन्त परिषद को निम्नलिखित उद्देश्य सौंपे गए हैं :

  • स्नातक और स्नातकोत्तर दोनों स्तरों पर – दन्त चिकित्सा शिक्षा के समान मानक का रखरखाव करना।
  • दन्त चिकित्सा कॉलेजों को स्थापित करने की अनुमति के लिए दन्त चिकित्सा कॉलेजों के निरीक्षण की परिकल्पना करना।
  • दन्त चिकित्सक, डेंटल हाइजेनिस्ट, दन्त यांत्रिकी के प्रशिक्षण के लिये मानक पाठ्यक्रम को निर्धारित करना और इस प्रकार के प्रशिक्षण की परिस्थितियों को निर्मित करना।
  • अधिनियम के अंतर्गत मान्यता के लिए परीक्षाओँ को न्यूनतम मानकों और सुरक्षित योग्यताओं की पूर्ति के लिए अन्य आवश्यकताओं को निर्धारित करना।
  • सभी दंत संस्थानों का पर्यवेक्षण कर यह सुनिश्चित करना कि क्या वे निर्धारित मानकों का पालन कर रहे हैं।